ट्रेनिंग में कर दी चुदाई

(Training Me Kar Di Chudai)

हाई दोस्तों….मैं नागपुर से अभिषेक, मैं एक एमएनसी में कम्प्यूटर सेल्स का काम देखता हूँ और मेरी उम्र 29 साल हैं. सेल्स टीम में होने के नाते मैं रेग्युलर सेल्स मीटिंग और ट्रेनिंग में जाता हूँ. यह बात तब की हैं जब में एक हफ्ते की सॉफ्ट स्कील्स ट्रेनिंग के लिए पूना गया था. वहाँ पर मैंने रुबीना ना की एक हॉट लड़की के साथ चोदने का अवसर पाया था. आइयें मैं आपको इस हॉट लड़की की चुदाई की पूरी बात बताता हूँ.

एमएनसी वाले बड़े होंशियार होते हैं, वोह ट्रेनिंग शहर के बहार किसी थ्रीस्टार या फाइव स्टार रिसोर्ट में ही रखते हैं ताकि लड़के लडकियां बहार जा ना सके और वोह लोग पुरे समय पढ़ाते रहे. मुझे यह ट्रेनिंग वगेरह पहेले से ही बोर लगती थी और मैं हमेंशा लेपटोप ले के जाता था साथ में, क्यूंकि कुछ ट्रेनर तो साले टीवी कनेक्शन भी बंध करवा देते थे रूम के. मैं अपनी सिगरेट का क्वोटा भी साथ ले के चलता था और स्विमिंग पुल भी में सभी दिन यूज़ कर लेता था. इस बार ट्रेनिंग थोड़ी मजेदार थी क्यूंकि हमारे साथ साथ इसी रिसोर्ट में किसी दवाई कंपनी वालो की भी ट्रेनिंग थी और इस कंपनी में एक दो पटाखे जैसी लडकियां थी जो खाने और नास्ते के वक्त दिख जाती थी. इस लड़की का फिगर बहुत सेक्सी था, साली माल थी माल. मैंने एक दो बार उसे स्विमिंग पुल के पास टेबल टेनिस खेलते देखा था. मैंने उसका टाइम नोट किया और मैं उस टाइम पर पुल के इर्दगिर्द मंडराने लगा. वैसे भी उसका टाइम डिनर के बाद का ही था.

उस दिन रात को मैं खाना खा के निचे गया और पुल के इर्दगिर्द मंडराते हुए सिगरेट फूंक रहा था. मैंने देखा के टेबल टेनिस पर आज कोई नहीं हैं. मैं अभी घूम ही रहा था की यह हॉट लड़की अकेली आ रही थी. मैंने उसे देखा और उसने मुझे, वैसा तो पिछले 2 दिन से हो ही रहा था लेकिन साली बात आगे नहीं बढ़ रही थी. वो टीटी टेबल के पास जा के रस्ते को देख रही थी. उसके साथ खेलने वाली लडकियां आज आई नहीं थी. मैंने एक दो मिनिट उसकी और रुक रुक के देखा और फिर में भी टेबल के पास गया और एक बेट उठा ली. मैंने कहा मैं कंपनी दूँ आपको. हॉट लड़की अपने सेक्सी होंठो पर मुस्कान ले आई. टीटी का खेल शरु हो गया, मेरा ध्यान उसके हिलते बड़े बोल्स पर ही था, उसके बोल्स यानी की स्तन बड़े तो नहीं थे इतने लेकिन जब वोह खेल में उछलके शॉट मारती थी तो मस्त लगते थे उसके चुंचे. मैंने उसके साथ थोड़ी देर खेला और फिर हमने खेल बंध किया.

मैंने उसे कहा आइये थोडा टहले, अगर आप की इच्छा हो तो. वैसे भी खाना बहुत खा लिया हैं मैंने. हॉट लड़की बेझिझक मेरे साथ आने को तैयार हो गई (साला चालू माल लगता था). मैंने सोचा थोडा दाना सही गिरा तो कबूतर अपना भोसड़ा खोल देगा मेरे लिए. हम लोग इस बड़े रिसोर्ट के गार्डन, स्विमिंग पुल की साइड वगेरह में चक्कर लगाने लगे. इस हॉट लड़की ने बातो बातो में अपना नाम मनीषा बताया और वो गुजरात के नवसारी की रहने वाली थी. उसने मुझे बताया की उसने बीएससी किया था और मेडिकल रेप्रेसेंटेटीव की ट्रेनिंग देने आई थी. मैंने कंपनी को छोड़ के अपनी सारी डिटेल जूठ बताई इस लड़की को. हम लोग कुछ देर टहलते रहे और मैंने उसको उसके रूम के बहार छोड़ा. मैंने जाते हुए उसका मोबाइल नंबर माँगा, उसने बेझिझक मुझे अपना नंबर लिखवाया. मैंने उसको मिस कोल दी ताकि मेरा नंबर उसे मिल जाएं.

मैंने रूम पर आके और एक सिगरेट जलाई और अपने मोबाइल मे आयें हुए एसएमएस निकाले. मैंने इस हॉट लड़की को अच्छी अच्छी शायरी फोरवर्ड की. फिर कुछ प्यार व्यार वाली शायरी. वोह मुझे रिप्लाय में गुड, थेंक यु वगेरह भेज रही थी. फिर मैंने सोचा साला बहुत चुतियापा हो गया अभी सीधे औकात पर आता हूँ. मैंने एक नॉन-वेज मेसेज निकाला और इस लड़की को फोरवर्ड किया. मुझे लगा की वोह शायद इसका कोई रिप्लाय नहीं करेंगी. लेकिन यह मेरा भ्रम मात्र था क्यूंकि ना सिर्फ इस हॉट लड़की ने मुझे रिप्लाय में गुड जोक लिख के भेजा बल्कि अपने मोबाइल से और 2-3 गंदे जोक मुझे भेजे. मैंने उसे फोन किया और सीधे ही पूछा, अच्छा आप भी ऐसे मेसेज में दिलचस्पी रखते हो मनीषा जी. वोह बोली अरे हम भी तो जवान हैं आप अकेले थोड़ी हैं….खिखी खी…उसके हंसने पर मेरा मन हुआ के अभी जाके उसके चूत को लंड के पानी से नहला दूँ. मैंने इधर उधर की बातें की और उससे सीधे ही पूछा की इच्छा हैं मेरे साथ सेक्स करने की.

उसने हां तो कहा लेकिन साथ में बोली लेकिन यहाँ पर मुश्किल हैं क्यूंकि मेरे साथ रूम में दो लडकियां और हैं. मैंने उसे कहा की मेरे रूम में भी एक लड़का हैं और साला पक्का हरामी हैं. मैंने एक आइडिया लगाया, मैंने उसे कहा की वोह सुबह ट्रेनिंग में जाएं और जब सेशन आधा हो यानी की लंच के समय कुछ बीमारी का बहाना कर के निकल आये. हम लोग लंच करने के बाद किसी भी एक के रूम में अवश्य चुदाई कर सकते हैं और ऐसे प्रॉब्लम भी नहीं होगी. हॉट लड़की मनीषा को मेरा आइडिया सही लगा और उसने बात मान ली. दुसरे दिन मैंने लंच के पहले अपने ट्रेनर को कहा की मुझे टॉन्सिल्स का दर्द हो रहा हैं और मुझ से क्लास में बैठा नहीं जाएगा. ट्रेनर ने कहा की वोह डोक्टर बुलाये क्या? मैंने उसे कहा नहीं मेरे पास चालू दवाई हैं और थोडा आराम करने पर सब ठीक हो जाएगा. ट्रेनर की एक किडनी मांग ली हो ऐसा उसका मुहं बन गया, लेकिन उसने मुझे रूम पर जाके आराम करने की छुट्टी दे दी. मैंने लंच में मनीषा को देखा, साली बिलकुल बीमार हो वैसे उसने शकल बनाई थी. हॉट लड़की को भी चुदना था इसलिए वह ड्रामा कर रही थी.

यह कहानी आप decodr.ru पर पढ़ रहे है ।

रूम पर आके मैंने हॉट लड़की को मेसेज किया, उसने मुझे अपने रूम पर 15 मिनिट के बाद आने को कहा. मैंने अपना मोबाइल बंध किया ताकि कोई बेन्चोद प्लान की माँ ना चोद दे. मैंने जाने से पहले जल्दी से नाहा लिया ताकि फ्रेश मन से मस्त चुदाई हो सके इस हॉट लड़की की. कुछ 12-15 मिनिट में मैं उसके रूम के पास की कोरिडोर में था, तभी उसके रूम का दरवाजा खुला और एक मोटी लड़की बहार गई. मैंने सोचा अच्छा हुआ की मैंने दरवाजा नोक नहीं किया. मैंने धीमे से दरवाजा नोक किया और जानबूझ के बोला, संकेत भाई दरवाजा खोलियें. दरवाजा हॉट लड़की ने ही खोला और उसने बहार दोनों तरफ देखा और मुझे अंदर ले फट से दरवाजा बंध किया.

मनीषा ने मुझे जैसे अंदर लिया मैंने उसको लिपट के उसके गले को और होंठो को चूमना चालू कर दिया. यह हॉट लड़की भी मेरे कमर के उपर हाथ घुमा के मुझे अपने से चिपकाने लगी. मेरा लंड बहुत उत्तेजित हो चूका था. मैंने फट से उसके कपडे उतार दिए और उसे अपने हाथो से उठा के पलंग पर बिठाया. मनीषा ने मेरी पेंट की क्लिप खोली और मेरा तोता बहार निकाला. मेरा लंड खड़ा था और उसके सुपाड़े की चमड़ी हट गई थी जिस से मेरा हेलमेट जैसा भाग नजर आ रहा था. मनीषा ने सीधा उसे मुहं में लिया और वो पुरे लौड़े को नहीं बलके उस सुपाड़े को ही चूस देने लगी. यह एक असीम उत्तेजना थी और मेरा सुपाड़ा लाल हो गया और उसमे हल्का हल्का दर्द होने लगा लेकिन सच बताऊँ यह दर्द बहुत ही मीठा था. मनीषा लंड को कुछ दो मिनिट चुस्ती रही और मुझे अब उसकी चूत में लंड देने की इच्छा हो चली थी.

मनीषा ने अपनी टाँगे खोले और अपनी हलकी काली चूत मेरे लिए खोली, साला एक बात मेरी समझ में नहीं आती थी दोस्तों, लडकियां गोरी या नार्मल होती हैं. उनकी चूत पूरा दिन ढंकी होती हैं, फिर वह यह कालापन कहाँ से आता है? मैंने ज्यादा ना सोचते हुए थोडा थूंक निकाल के अपने लंड के सुपाड़े और हॉट लड़की की हलकी काली चूत के होंठो पर मला. उसके चूत की चिकनाहट मुझे अपनी उँगलियों के ऊपर महेसुस हो रही थी. मनीषा भी लंड सामने को तैयार थी और मेरा लौन्चर भी खड़ा था. मैंने सुपाड़ा उसके चूत के उपर घिसा और उत्तेजना के मारे मनीषा ने मुझे जोर से कमर से पकड़ लिया. मैंने एक हल्का झटका दिया और इस हॉट लड़की की चूत में अपना लंड घुसा दिया. मनीषा हलकी सिसकियाँ लेने लगी और वोह चूत को एकदम खुला करके लंड के प्रवेश को कम पीड़ादायक बनाने लगी. मैंने उसकी चूत को अब हलके हलके झटके दे के पेलना चालू कर दिया..मनीषा भी अपनी गांड को हिला रही थी और लंड को मजे से लुट रही थी. मैंने कुछ 5 मिनिट तक उसकी चूत को सुख दिया और अब मेरी इच्छा गुदामैथुन की हो चली थी.

मैंने लंड उसकी चूत से बहार निकाला और मनीषा की गांड पकड़ के उसे उल्टा लिटाया. मनीषा की सेक्सी गांड मेरे सामने थी, मैंने थोडा थूंक हाथ में लिया और फिर से अपने लौड़े पर और उसकी गांड के छेद पर दिया. मनीषा समझ गई की हमला अब पीछे से होने वाला हैं. मैंने तकिया उठाया और उसके पेट के निचे रखा. मनीषा की गांड मेरी तरफ जैसे की उपस गई और मैंने लंड को इस हॉट लड़की की गांड पर रखा. गांड की गर्मी लंड को बेताब कर रही थी. मैंने गांड में हल्का धक्का दिया और लंड को थोडा अंदर पेला. मनीषा से गांड का हमला बर्दास्त नहीं हो रहा था क्यूंकि मैंने उसे चद्दर को दोनों हाथो से कुचलते देखा. मैंने इसकी परवाह ना करते हुए एक ही बड़े धक्के में लौड़ा पूरा के पूरा उसकी गांड में घुसा दिया. मनीषा जोर से चिल्ला उठी. उसने मेरी जांघो पर हाथ रख दिया ताकि में झटका ना दे सकूँ. मैंने लंड को ऐसे ही अंदर रहने दिया. मनीषा थोडी देर मैं एडजस्ट होती लगी लंड से, मैंने धीमे धीमे लंड को उसके गांड में चलाना चालू किया. गांड गांड होती हैं, चूत की तरह यहाँ सीधा हाई-वे नहीं होता. मुझे इस सख्त गांड को मारने में काफी मजा आ रहा था.

मनीषा को पूरी तरह एडजस्ट होने में दो मिनिट लग गई और मैंने तब तक उसको ऐसे ही हौले हौले ठोका और फिर मैंने चालू किया एक अदभुत गांड संभोग, मनीषा आह आह होह ओह ओह करती रही और इस हॉट लड़की की गांड मस्त फटती रही. मैंने भी हॉट लड़की की गांड को पूरी तरह कुचलते हुए लंड का रस तक उसमे निकाल दिया…..हम दोनों गले लग के थोड़ी देर सो गए. हॉट लड़की की चूत ने सारा रस अपने अंदर भर लिया. 20 मिनिट के बाद चुदाई का दूसरा राउंड भी हुआ और फिर मैंने चुपके से अपने रूम में जाके सो गया….मनीषा का नंबर लिया था लेकिन सच बताऊँ इस ट्रेनिंग के बाद ना मैंने उसे फोन किया ना उसने मुझे. शायद वोह ट्रेनिंग में इस हॉट लड़की को लंड की जरुरत थी, बिलकुल उसी तरह जैसे मुझे चूत की…..!!!



"kamukata sex story com""deshi kahani""real hot story in hindi""kamukta kahani""sexy sexy story hindi""bhabhi gaand""chodai ki kahani"www.hindisex"adult story in hindi""इन्सेस्ट स्टोरीज""bua ko choda""सेक्स स्टोरी इन हिंदी""bhai behen sex""indian sex st""balatkar sexy story""mother son hindi sex story""sex ki kahani""hindi saxy khaniya""indian sex storied""new sexy story com""sex story.com""latest sex story hindi""devar bhabhi ki sexy kahani hindi mai""sex indain""stories hot indian""new chudai ki story""sex story in hindi""chachi ki chudae"hotsexstorywww.chodan.com"indian sex storys""mother son sex story"kamkuta"sexy romantic kahani""सैकस कहानी""kajol sex story""hot sexy stories""hot sex story""jija sali""indian sex stories""kamukta new story""nude sex story""sex stories hot"www.antarvashna.com"www kamvasna com""sex stories indian""india sex kahani""hot sex stories"sexstorieshotsexstory"sucksex stories""jabardasti chudai ki kahani""hindi sexy new story""mast boobs"hindipornstories"hot sex story in hindi""sex with hot bhabhi""chudai kahania""vidhwa ki chudai""sexy suhagrat""साली की चुदाई""अंतरवासना कथा""new xxx kahani""kamukta new story""bhabhi ki chut""hindi sex stoy""hot kamukta com""chachi sex story""sex story in hindi with pic""mummy ki chudai dekhi""hindi sex stoy"sexstories"hindi chudai ki story"mastram.net"hot stories hindi"