शादी की फर्स्ट नाईट को पता चला रियल सेक्स का मज़ा

(Shadi Ki First Night Ko Pata Chala Real Sex Ka Maja)

मेरा नाम अंकुर है मैं चेन्नई में जॉब करता हूं मुझे चेन्नई में जॉब करते हुए 5 वर्ष हो चुके हैं मैं काफी समय से अपने घर भी नहीं गया था लेकिन जब मैं अपने घर रायपुर गया तो वहां पर मुझे जीतू मिला जीतू अपने घर की स्थिति मुझे बताने लगा तो मुझे बहुत बुरा लगा।जीतू मुझसे कहने लगा कि मेरे पापा की मृत्यु के बाद हम लोगों के घर में कोई भी काम करने वाला नहीं है मैं छोटी-मोटी नौकरी कर रहा हूं लेकिन उससे मेरा गुजारा नहीं चल पा रहा। जीतू पढ़ने में ठीक नहीं था इसी वजह से उसने 12वीं के बाद पढ़ाई नहीं की जीतू स्कूल में मेरे साथ पढ़ा करता था और वह ना जाने क्यों अपनी जिंदगी खराब कर बैठा और इसी वजह से आज उसे बहुत समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है, जीतू मुझसे कहने लगा मेरे लायक भी कोई काम हो तो तुम मुझे बताना। Shadi Ki First Night Ko Pata Chala Real Sex Ka Maja.

जीतू की स्थिति देखकर मुझे बहुत बुरा लगता है मैंने उसे कहा लेकिन तुम्हारे घर में तो सब कुछ ठीक चल रहा था वह मुझे कहने लगा जब से पापा की मृत्यु हुई है तब से हमारे घर की आर्थिक स्थिति पूरी खराब हो चुकी है मैं तो समझ ही नहीं पा रहा हूं कि मुझे क्या करना चाहिए। जीतू का घर हमारे घर से कुछ ही दूरी पर है इसलिए उसके घर पर मेरा आना जाना लगा रहता था इस बार जब मैं जीतू से मिला तो जीतू ने मुझे कहा यार तुम मेरे लिए कुछ करो मैंने उसे कहा ठीक है मैं देखता हूं।

मैं घर पर 10 दिन रुकने वाला था मैंने 10 दिन के लिए अपने ऑफिस से छुट्टी ली थी और इन 10 दिनों में जब मेरी हमेशा जीतू से मुलाकात होती तो जीतू सिर्फ मुझे इसी बात के लिए कहता कि तुम मेरे लिए कुछ कर सकते हो मुझे भी लगा कि मुझे जीतू के लिए कुछ करना चाहिए। मैंने जीतू से कहा तुम क्या करना चाहते हो वह कहने लगा यार मैं तो कुछ भी काम कर लूंगा लेकिन उससे मुझे पैसे मिलने चाहिए। मैंने जीतू से कहा तुम एक काम करो मैं तुम्हारे लिए एक छोटा सा रेस्टोरेंट खोल लेता हूं यदि तुम उसे चला पाओ तो, उसके बदले तुम मुझे कुछ पैसे दे दिया करना जीतू कहने लगा हां क्यों नहीं मैं जरूर उसमें पूरी मेहनत से काम करूंगा।

मेरे घर के बाहर मेरी दुकानें खाली पड़ी थी मैंने सोचा कि वही पर क्यों ना मैं रेस्टोरेंट खोल कर जीतू को दे दूं ताकि वह काम को चला सके उससे उसका भी रोजगार चल पाएगा और मुझे भी वह कुछ पैसे दे दिया करेगा इसलिए मैंने जीतू के लिए वहां पर रेस्टोरेंट खोल दिया। वह अच्छे से काम भी करने लगा था मैं तो वापस चेन्नई आ गया था लेकिन जीतू मुझे हमेशा पैसे भेज दिया करता था जीतू से मेरी दस पंद्रह दिनों में बात हो जाती थी वह मुझे हमेशा कहता कि तुम्हारा मुझ पर बहुत बड़ा एहसान है। मैंने जीतू से कहा कोई बात नहीं दोस्त ऐसा तो होता ही है लेकिन जीतू मेरे एहसान को भुला नहीं पा रहा था और वह हमेशा ही मुझसे इस बारे में कहता रहता। मैं उसे कहता की यह सब तुम्हारी मेहनत है और तुम मेरे दोस्त हो यदि मैंने तुम्हारी मदत की तो इसमें एहसान की कोई बात नहीं है। मैं जब वापस रायपुर गया तो मैं जीतू के घर पर गया जिस वक्त हम लोग पढ़ा करते थे उस वक्त जीतू की बहन रीमा बहुत छोटी थी लेकिन वह अब बड़ी हो चुकी थी।

दामिनी को जब मैंने देखा तो वह मुझे अच्छी लगी लेकिन मुझे यह डर था कि कहीं जीतू मेरे और दामिनी के बारे में कुछ गलत ना समझ ले इसलिए मैंने दामिनी से ज्यादा बात नहीं की। कुछ दिनों बाद दामिनी की मां ने मुझे कहा बेटा तुमने जीतू का बहुत ध्यान रखा और तुम्हारी वजह से ही आज वह अपने पैरों पर खड़ा है और अच्छे से काम कर पा रहा है। उसकी मां ने जब मुझसे यह कहा कि मैं चाहती हूं तुम दामिनी के साथ शादी कर लो और फिर तुम उसका हाथ थाम लोगे तो मुझे बहुत खुशी होगी।

उसकी मां के कहने पर मैं उन्हें मना ना कर सका लेकिन मैंने उनसे कहा मैं पहले अपने घर पर इस बारे में बात करना चाहता हूं। जीतू की मां ने यह बात जीतू को भी बता दी और जब उन्होंने यह बात जीतू को बताई तो जीतू भी खुश था क्योंकि जीतू को मेरे बारे में सब कुछ पता है जीतू ने मुझे कहा यार यदि तुम्हारा रिश्ता मेरी बहन के साथ हो जाएगा तो मुझे बहुत खुशी होगी क्योंकि तुम्हारे जैसा लड़का उसे शायद ही कभी मिल पाएगा।

उसका परिवार चाहता था कि मैं दामिनी से शादी कर लूं लेकिन मैं पहले अपने घर पर इस बारे में बात करना चाहता था और उसके बाद ही मैं इस बारे में कोई फैसला लेना चाहता था। हालांकि दामिनी में ऐसी कोई कमी नहीं थी वह मुझे बहुत पसंद थी और मैं चाहता था कि उससे मेरी शादी हो और मैंने दामिनी से शादी करने के बारे में सोच लिया था। दामिनी से जब मैंने इस बारे में बात की तो मैंने उससे कहा तुम घबराओ मत और मुझे तुमसे जो पूछना है तुम मुझे उसका जवाब देना मैंने दामिनी से पूछा क्या तुम्हारा किसी और के साथ कोई अफेयर तो नहीं है या तुम किसी और को चाहती तो नहीं हो। दामिनी मुझे कहने लगी नहीं मेरी जिंदगी में कोई भी नहीं है मैंने दामिनी से पूछा क्या तुम मुझसे शादी करना चाहती हो।

यह कहानी आप decodr.ru पर पढ़ रहे है ।

दामिनी मुस्कुराने लगी और वह मुझे कहने लगी हां मैं आपसे शादी करना चाहती हूं यदि आप से मेरी शादी होगी तो मेरा जीवन संवर जाएगा, भैया आपकी बहुत तारीफ करते हैं और मम्मी भी आपके बारे में बहुत कहती रहती हैं। सब कुछ बहुत अच्छे से चल रहा था दामिनी भी मुझे पसंद करने लगी थी मैंने एक दिन अपने पापा से इस बारे में बात की शायद पापा को यह रिश्ता पसंद नहीं था क्योंकि पापा चाहते थे उनके दोस्त की लड़की से मेरी शादी हो लेकिन वह मेरी बात को भी नहीं टाल सकते थे और वह मेरा रिश्ता दामिनी के साथ करने के लिए तैयार हो गए।

मैं बहुत खुश था क्योंकि मैं जहां चाहता था वहां मेरी शादी हो रही थी और इस बात से जीतू और उसकी मां भी बहुत खुश थे। मेरे मम्मी पापा जब दामिनी को देखने के लिए पहली बार गए तो उन्हें दामिनी बहुत अच्छी लगी और उसे देख कर वह बहुत खुश हुए। उन्होंने मुझे कहा पहले तो हमें लग रहा था कि शायद दामिनी तुम्हारे लायक नहीं है लेकिन जब हम लोगों ने दामिनी से बात की तो हमें बहुत अच्छा लगा वह तुम्हें खुश रखेगी और तुम्हारा बहुत ध्यान रखेंगी। सब कुछ बहुत ही अच्छे से हो चुका था और मेरी सगाई भी दामिनी से हो गई जब मेरी सगाई दामिनी से हुई तो हम दोनों बहुत खुश थे लेकिन मैं कुछ समय बाद चेन्नई चला गया मेरी दामिनी से फोन पर बात होती थी।

मैं सोचने लगा कि मैं जब इस बार घर जाऊंगा तो दामिनी से शादी कर लूंगा लेकिन मुझे ऑफिस से छुट्टी नहीं मिल पा रही थी इसीलिए मैंने फिलहाल अपनी शादी का ख्याल अपने दिमाग से निकाल दिया था लेकिन मैंने अपने पिताजी से कहा था कि मैं जब इस बार छुट्टी लेकर आऊंगा तो आप मेरी शादी दामिनी से करवा दीजिएगा। पापा ने कहा ठीक है हम लोग इस बारे मेरी दामिनी की मां से बात कर लेंगे उन्होंने भी दामिनी की मां से बात कर ली थी। मेरी शादी के लिए उन्होंने पूरी तैयारी कर ली थी मुझे अपनी शादी के लिए छुट्टी लेनी थी और जब मैं घर आया तो मेरी शादी दामिनी के साथ हो गई। मेरी शादी दामिनी के साथ हो चुकी थी और जब दामिनी और मेरी सुहागरात की पहली रात थी तो उस दिन मैंने दामिनी से कुछ देर बात की हम एक दूसरे से बात कर के खुश थे।

मैंने दामिनी से कहा आखिरकार जो तुम चाहती थी वह हो गया दामिनी से मेरी शादी हो चुकी थी और अब वह मेरी पत्नी थी मैंने लाइट बुझा दी मैने दामिनी के होठों को किस किया दामिनी को बहुत अच्छा लग रहा था। मैंने दामिनी के स्तनों को दबाना शुरु किया तो उसे मजा आने लगा और जैसे ही मैंने दामिनी के कपड़ों को उतारा तो उसके शरीर पर एक भी बाल नहीं था मैंने दामिनी से कहा तुम्हारा बदन तो बहुत चिकना है। मैं उसके बदन को महसूस कर रहा था और मैं उसके स्तनों को दबा रहा था मैंने जब दामिनी के स्तनों को अपने मुंह में लिया तो उसे बड़ा मजा आ रहा था और मैं भी बहुत खुश था। “Shadi Ki First Night”

मैंने दामिनी के निप्पलो को अपने मुंह में लेकर चुसा तो उसके अंदर की उत्तेजना बढ़ने लगी और मेरे अंदर भी जोश बढने लगा मैंने दामिनी की योनि में अपने लंड को सटाया तो उसकी योनि से खून निकलने लगा। मुझे वह देखकर और भी ज्यादा उत्तेजना जागने लगी मैंने पूरी तेजी से धक्के देने शुरू किए मैंने उसके दोनों पैरों को चौडा करते हुए उसकी योनि मे तेजी से डाला तो वह मचल रही थी वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत अच्छा लग रहा है।

मैंने जब उसे घोड़ी बनाकर धक्के देने शुरू किए तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था मैंने उसे बड़ी तेजी से धक्के दिए जिससे कि उसकी चूतडो का रंग लाल हो जाता मेरी सुहागरात की पहली रात बहुत अच्छी थी। मैंने जब अपने लंड पर तेल लगाकर दामिनी की गांड में अपने लंड को प्रवेश करवाया तो वह चिल्लाने लगी और मैं तेजी से उसे धक्के देने लगा मैं बहुत तेजी से उसे धक्के दे रहा था वह चिल्ला रही थी। वह मुझे कहने लगे मुझे बहुत दर्द हो रहा है लेकिन सुहागरात की पहली रात हम दोनों के लिए यादगार बनकर रह गई, उस रात मैंने दामिनी के साथ भरपूर मजे लिए और उसने मेरा बहुत अच्छे से साथ दिया। “Shadi Ki First Night”

अगले दिन जब वह कमरे में आई तो दामिनी सुबह ही उठ चुकी थी मैं सो रहा था दामिनी मुझे कहने लगी उठ जाओ। मैंने दामिनी से कहां बस कुछ देर बाद उठ जाऊंगा दामिनी ने मुझे चाय दी तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपनी तरफ खींचा। दामिनी मुझे कहने लगी मुझे बड़ा दर्द हो रहा है मैंने दामिनी से कहा कोई बात नहीं ठीक हो जाएगा उस रात भी मैंने दामिनी की गांड के मजा लिए। हम दोनों एक दूसरे को बहुत प्यार करते हैं और हमारा शादीशुदा जीवन अच्छा चल रहा है। “Shadi Ki First Night”


Online porn video at mobile phone


"sexy story in hundi""adult sex kahani""bhabhi sex story""hindi sexi storise""xossip story""www hindi sexi story com""बहन की चुदाई""hot sex story""office sex story""bhai behan sex kahani""www kamukata story com""sexy group story""chodai k kahani""hindisex stories""chudai ki hindi kahani""mom son sex stories""sex story with""bhabhi ki choot""सेक्स स्टोरी इन हिंदी""sex khani""hindi sax istori""chodna story""sex stori hinde""new hot hindi story""hindi sex s""www new sex story com""www.kamukta com"hindisexstories"www sexi story""train me chudai""behen ko choda""hondi sexy story""chut ki malish""story sex""english sex kahani""hot sex stories in hindi""honeymoon sex story""hindi sexy storiea""sex stories indian""hindi sexi stori""hindi sex story hindi me""desi chudai story""indian.sex stories""hindi sexi istori""antarvasna sex story""सेक्सी स्टोरी""indian xxx stories""mausi ki bra""new chudai ki story""bhabhi gaand""हिन्दी सेक्स कहानीया""bhabhi ki chudai ki kahani hindi me""hindsex story""tanglish sex story""chudai sex""uncle ne choda""sx story""hindi chut kahani""sex story photo ke sath""jabardasti sex story""sex kahani""indian sex in hindi""www hindi sex katha""new hindi sex""biwi ki chut""aunty ki chudai hindi story""www hindi sex storis com""hot sex bhabhi""balatkar ki kahani with photo""hindi sexy stories.com""indian sexchat""kamukata story""sali ki chudai""www hindi sex setori com""gangbang sex stories""bus me sex""sexy story hindhi""group sex story in hindi""hindi sexy stor""risto me chudai""hindi aex story""sax khani hindi""hindi sexi storeis""mastram sex stories"