दोस्त के रूम पर गर्लफ्रेंड के बूब्स चूसे

Dost Ke Room Par Girlfriend Ke Boobs Chuse

हेल्लो दोस्तों, मैं विनय आप सभी का Hot Sex Story में बहुत बहुत स्वागत करता हूँ। मैं पिछले कई सालों से Hot Sex Story का नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती तब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। ये मेरी जिन्दगी की सच्ची घटना है। Dost Ke Room Par Girlfriend Ke Boobs Chuse.

मैं झांसी जिले का रहने वाला हूँ। कॉलेज में मेरी एक गर्लफ्रेंड कृतिका बन गयी थी। मैंने उसे चोदना चाहता था, पर बार बार वो शादी की बात करती थी।

“यार कृतिका हम लोगो को बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड बने कितने दिन हो गये। जान तुम्हे नही लगता की हम लोगो को अब सेक्स करना चाहिए???” मैंने एक दिन कृतिका से पूछा

“हाँ हम सेक्स भी करेंगे, पहले तुम मेरे मामा के शादी की बात करो। मेरे गले में माला डाल दो फिर सब कुछ कर लेना!” कृतिका किसी पुराने जमाने की लड़की की तरह बोली

“शिट….जान बाकी जोड़ों को देखो। सब चुदाई के मजे ले रहे है, शादी के पीछे कोई नही भागता है। उल्टा अब तो लड़कियाँ पहले कुछ बन जाना चाहती है, फिर शादी के बारे में सोचती है। चलो ना जान चुदाई करते है!” मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को बहुत समझाया। पर वो तो कोई बात सुनने को राजी ही नही थी। वो बार बार शादी की बात कर रही थी। जबकि मेरी दिलचस्पी उसकी मस्त चूत मारने में ही थी, शादी वादी में नही।

मैंने अपने दोस्तों से पूछा की क्या करे कैसे अपनी गर्लफ्रेंड की चूत मारे तो उन्होंने मुझे कहा की मैं उसे एक मोबाइल गिफ्ट कर दूँ और उसमें ढेर सारी ब्लू फिल्मे डाल दूँ। कुछ ही दिन में कृतिका वो चुदाई वाली फिल्मे देख लेगी और खुद मुझसे चुदवाने को कहेगी। दोस्तों, मैंने ऐसा ही किया। मैंने कृतिका को एक अच्छा सा मोबाईल फोन दे दिया और उसने कम से कम २० ३० ब्लू फिल्मे डाल दी। उसने हर तरह के विडिओस थे।

लंड चूसने वाला, चूत पीने और चाटने वाला, चूत और गांड मारने वाला। हर तरह के विडीयोस थे उसमे। मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को फोन गिफ्ट कर दिया और कुछ ही दिन में कृतिका ने सारे वीडियोस देख डाले।

“विनय चलो चुदाई करते है!!” कृतिका बोली
“……पर तुम तो कह रही थी की अच्छे घर की लड़कियां शादी के बाद ही चुदाई का मजा लेती है। अब तुम्हे क्या हो गया??” मैंने मजाक करते हुए पूछा
“ये सब छोड़ो न विनय चलो चुदाई करते है!!” कृतिका बोली
मैं अंदर ही अंदर बहुत खुश था। मैंने कॉलेज के हॉस्टल में एक कमरे का जुगाड़ कर लिया।

मेरे दोस्त ही इस हॉस्टल के कमरे में रहते है। मुझे बस उन लोगो को एक पार्टी देनी थी। मैं कृतिका को लेकर वहां पहुच गया। खूब बड़ा सा हवादार कमरा था। मैंने कृतिका को बाहों में भर लिया और किस करने लगा। दोस्तों मेरी माल बहुत सुंदर थी। थोड़ी सांवली थी, पर जिस्म इकदम भरा था और मम्मे तो ३६” के थे।                                              “Girlfriend Ke Boobs”

कृतिका ने जींस टॉप पहन रखा था। वो हमेशा अपने बाल खुले ही रहती थी क्यूंकि उसके बाल बहुत काले और घने थे। मैंने कृतिका को बाहों में भर लिया और हम दोनों किस करने लगे। उसे ये बात नही मालुम थी की मैं इसी तरह हर लड़की के साथ मीठी मीठी बाते करता हूँ और उनकी चूत मार लेता हूँ। मैंने उसे अपनी पुरानी गर्लफ्रेंड्स के बारे में कुछ नही बताया था। वरना वो मुझे कभी चूत नही देती।
हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे।

मेरा तो लौड़ा बार बार मुझसे कह रहा था की गांडू… किस विस में टाइम मिस मत कर। पहले चोद ले इस लौंडिया को कसके। किस बाद में कर लेना। पर दोस्तों, मैं फुल मजा लेना चाहता था, उसके लिए जरुरी था की सब कुछ धीमे धीमे किया जाए। मैं कृतिका को लेकर बिस्तर पर आ गया। उसे चोदने के लिए मैंने सनी लिओन वाले ३ कंडोम खरीद लिए थे जो मेरी जींस की पॉकेट में पड़े हुए थे। हम दोनों बिस्तर पर बैठ गये।                                                                                             “Girlfriend Ke Boobs”

मैंने कृतिका को अपनी गोद में बिठा लिया और उसे अपने सीने से लगा लिया। फिर हम दोनों लैला मजनू की तरह किस करने लगे। कृतिका के होठ बड़े सेक्सी थे। बड़े बड़े और उपर की तरफ उठे हुए ओंठ थे उसके। मैं उसके गुलाबी होठो से लंड जरुर चुस्वाऊंगा, मैंने सोचा।
हम दोनों होठ से होठ जोड़कर चुम्बन करने लगे। ओह्ह्ह….सायद वो पहली बार किसी मर्द से अपने होठ चूसा रही थी। मैंने उसका कंधे पकड़ लिया और कुछ देर में हम दोनों बहुत आक्रामक और गर्म हो गये।

हम दोनों के अंदर चुदाई की आग जल उठी थी। मैं उसका गहरा चुम्बन लेने लगा। लग रहा था की मैं उसके लबो को खा ही जाऊँगा। वो भी आक्रामक होकर मेरे होठ चूस रही थी। फिर हम दोनों एक दूसरे की जीभ और लार चूसने लगे। मेरा हाथ उसकी चिकनी, पतली, सेक्सी और छरहरी कमर पर चला गया था। उसकी गुलाबी रंग की टॉप काफी कसा था और जींस के उपर था। मैंने हाथ से उसके टॉप को उपर कर दिया तो उसकी पतली सेक्सी कमर मिल गयी।                                           “Girlfriend Ke Boobs”

जैसा टीवी में मॉडल्स की बड़ी पतली पतली कमर होती है, ठीक उसी तरह मेरी गर्लफ्रेंड कृतिका की कमर थी।
मैंने दोनों हाथ उसकी पतली कमर पर रख दीये और सहलाने लगा। आज इस माल को मुझे कस के चोदना है, मैंने मन ही मन में खुद से कहा। मेरे हाथ उसकी मक्खन जैसी पतली कमर पर जहाँ वहां रेंग रहे थे।

उपर ही तरफ हम दोनों एक दूसरे के ओंठ और जीभ चूस रहे थे। हम दोनों की आँखें बंद थी। खुले बालों में मेरी गर्लफ्रेंड कृतिका बहुत ही सेक्सी लग रही थी। मैं अपने हाथो से उसके गुलाबी टॉप को उपर और उपर करता जा रहा था। अब मुझे कृतिका का पेट दिखने लगा था। मैंने दोनों हाथो से कृतिका की कमर को पकड़ लिया और सहलाने लगा। धीरे धीरे मैंने उपर की तरफ बढ़ रहा था।
हम दोनों को बहुत मजा आ रहा था।                                                     “Girlfriend Ke Boobs”

यह कहानी आप decodr.ru पर पढ़ रहे है ।

मैंने उसके लबो को जी भरकर चूसा और उसके गुलाबी होठो की सारी लाली और कुवारापन चुरा लिया। फिर मैं उसके टॉप के सिरे को पकड़कर निकालने लगा। थोड़ी शर्म के बाद उसने अपने हाथ उपर कर दिए और मैंने उसका टॉप निकाल दिया और किनारे रख दिया। बाप रे!!….कितनी गोरी मॉल थी वो अंदर से। मेरी गर्लफ्रेंड कृतिका से टॉप से मैचिंग वाली गुलाबी रंग की जालीदार ब्रा पहन रखी थी।

उसके कबूतरों को देख देख के तो मेरे तोते उड़े जा रहे थे। आज मैं पहली बार कृतिका को नंगी देखा था। एक बार फिर से मैंने उसे पकड़ लिया और सीने से लगा लिया। मुझ पर वासना पूरी तरह से छा गयी। आज तो इस लौंडिया की चूत मुझे हर हालत में चाहिए थी। मैंने पागलों की तरह फिर से कृतिका को गाल, गले, कंधों पर किस करने लगा। वो भी चुदाई के फुल मूड में थी और मुझे हर जगह किस कर रही थी।

उसके बड़े बड़े कबूतर देख के तो मेरा दिल बल्लियों उछल रहा था।
मैं उसके कंधे पर अपने दांत गड़ाने लगा। उसे अच्छा लग रहा था। मैंने उसके गले को किस कर रहा था। फिर उसके होठो के नीचे उसकी ठुड्डी को मैंने काटने लगा। मैंने कुछ देर के लिए कृतिका को घुमा दिया।

अब उसकी विशाल बलखाती चिकनी और मांसल पीठ मेरे सामने थी। मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की पीठ को चूमने लगा और उसे दांत गड़ाकर काटने लगा। सच में दोस्तों, ये सब बहुत रूमानी था। आखिर में मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया और निकाल दिया और कृतिका को फिर से घुमाकर अपनी तरफ कर लिया। उसकी विशाल बलखाती छाती मेरे सामने थी। २ बड़े बड़े कबूतर बार बार मुझसे कह रहे थे की आओ मेरा सारा दूध पी लो।                                                             “Girlfriend Ke Boobs”

मैंने ऐसा ही किया। मैंने कृतिका को बिस्तर पर लिटा था। उसके खुले काले लम्बे बाल और उपर से उसका गोरा गदराया जिस्म तो जैसे मुझ पर कहर ढा रहे थे। उसकी आँखों में शर्म थी। सायद आजतक मेरी माल कृतिका किसी मर्द के सामने नंगी नही हुई थी। पर आज वो नंगी भी होगी, और चुदेगी भी। मैंने अपने हाथ कृतिका के ३६ के बड़े बड़े गोल गोल मम्मो पर रख दिए। उसने अपनी आँखें बंद कर ली।

मैंने नीचे की और झुका और एक बार फिर से मैंने उसके रसीले होठो का स्वाद लिया। अब मेरा फोकस उसके रसीले मम्मो पर था। ओह्ह्ह्ह…..कितने बड़े बड़े और कितने गोल गोल। यही मेरी पहली प्रतिक्रिया थी। मैंने कृतिका के दूध को दबाना शुरू कर दिया। उसने कुछ नही कहा। क्यूंकि वो भी आज चुदाई के फुल मूड में थी। मेरी उँगलियाँ उसके गोल गोल बूब्स पर नाचने लगी और उसे दबाने लगी।

“…..हाईईईईई, उउउहह, आआअहह” कृतिका के मुंह से निकला। धीरे धीरे मुझे मजा आने लगा और मैं तेज तेज उसके दूध दबाने लगा।
कितने मुलायम मक्खन जैसे नर्म स्तन थे उसके। मैं कितना किस्मत वाला हूँ की आज इस कुवारी लौंडिया के दूध अपने हाथ से दबाने को मिल रहे है। धीरे धीरे मेरी वासना बढती गयी और मैं तेज तेज कृतिका के टमाटर [यानी उसके चुच्चे] दबाने लगा।

बड़ी बड़ी नुकीली गदराई सुंदर छातियों को हाथ में लेकर मुझे गर्व का अहसास हो रहा था। कृतिका की चूचियों के निपल्स के चारो ओर ५ ६ सेंटीमीटर की चौड़ाई वाले लाल लाल घेरे थे जो बरबस ही मेरा ध्यान खीच रहे थे। हिन्दुस्तान में जादातर लड़कियों के निपल्स के चारो ओर काले घेरे होते है पर कुछ के भूरे या गहरे लाल रंग के घेरे होते है। कृतिका उन कुछ लड़कियों में से एक थी जिसकी चूचियों की निपल्स के चारो ओर लाल लाल अनार जैसे रंग वाले घेरे थे।

लग रहा था की मैंने किसी अनार को हाथ में ले रखा था। फिर मैंने तेज तेज कृतिका के अनार दबाने लगा और मुंह में लेकर पीने लगा।“आआआआअह्हह्हह….ईईईईईईई…ओह्ह्ह्हह्ह…अई..अई..अई….अई..मम्मी…..” वो चीखी और कसमसाने लगी। मैं अपनी माल की चूचियों को मजे लेकर पीने लगा और किसी आम की तरह चूसने लगा।                          “Girlfriend Ke Boobs”

कृतिका के दूध अप्रतिम रूप से सुंदर और सेक्सी थे। मैंने मुंह में लेकर एक एक मम्मे को किसी आम की तरह चूस रहा था। दोस्तों बड़ा मजा आ रहा था। कृतिका उचल और मचल रही थी। मैंने हाथ से उसके दूसरे दूध को दबा रहा था और मुंह से दूसरे वाले कबूतर को पी रहा था। बड़ी देर तक हमारी मस्ती चलती रही।
मैंने अपनी टी शर्ट और जींस उतार दी और कच्छा भी निकाल दिया।

मेरा लंड ९” का था और बहुत मोटा ताजा था। मैंने कृतिका के पेट पर बैठ गया और उसके हाथो में मैंने अपना लंड पकड़ा दिया। वो चुदाई विडियोस तो पहले ही देख चुकी थी। इसलिए वो जानती थी की अब क्या करना है। कृतिका मेरे लंड को फेटने लगी। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। धीरे धीरे उसके हाथ तेज और तेज होते चले गये और वो जल्दी जल्दी मेरे लंड को फेटने लगी। मुझे मजा आ रहा था।     “Girlfriend Ke Boobs”

क्यूंकि रात में तो मुझे खुद ही मुठ मारनी पढ़ती थी, पर आज तो मेरी गर्लफ्रेंड ही मेरी मुठ मार रही थी। १० मिनट तक कृतिका ने मेरे लौड़े को फेटा और बिलकुल कड़ा कर दिया। मैंने अपना लौड़ा उसके क्लीवेज में रख दिया और दोनों ३६ के मम्मो को मैंने कसकर पकड़ लिया और बीच की तरह दबा लिया। फिर मैंने कमर चला चलाकर कृतिका के दूध को चोदने लगा।
वो “……मम्मी…मम्मी….सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ..ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” की आवाज निकालने लगी।

आज तक कृतिका ने किसी मर्द से अपने मम्मो को नही चुदवाया था। आज पहली बार वो ये काण्ड कर रही थी। मैंने उसके दूध को बड़ा कसकर दबा रखा था जिससे मेरे लौड़े पर जादा से जादा प्रेशर बने और चुदाई में मजा आये। मुझे अपनी गर्लफ्रेंड के मुलायम स्तनों को चोदकर बड़ा मजा आया। मैंने २० मिनट तक कृतिका के मम्मो को अपने लौड़े से चोदा। वो इकदम मस्त हो गयी थी।                “Girlfriend Ke Boobs”
मैंने धीरे धीरे उसकी जींस की बटन खोल दी और जींस को खींच कर निकाल दिया। मुझे उसकी हल्की सी तिकोनी सी पेंटी दिख गयी। मैंने अपना मुंह उसकी पेंटी के उपर रख दिया और उसकी चूत की खुसबू मैं लेने लगा। एक गहरी सीली सिली महक मेरी नाक में चली गयी। ये कृतिका की चूत की खुशबू ही थी। मैं जानता था। फिर मैंने आख़िरकार उसकी तिकोनी पैंटी निकाल दी। मेरे सामने मेरी प्रेमिका की साफ़ और चिकनी चूत थी।
“क्या तुम रोज अपनी झाटे बनाती हो???” मैंने हैरानी से पूछा
“रोज नही……खास मौके पर!!” वो बोली
“ख़ास…..???” मैंने सवाल किया
“हाँ…..मैं आज पूरी तरह से चुदने के मूड में थी।

इसलिए मैंने सुबह ही चूत को अच्छे से सेव कर लिया था!!” कृतिका बोली
“होली शिट!!” मैंने कहा और अपना सिर उसकी चूत में डाल दिया। उसके बाद मैंने वही किया जो हर बॉयफ्रेंड अपनी गर्लफ्रेंड के साथ करता है। उसकी चिकनी, साफ़ और स्वच्छ चूत पीने लगा। कृतिका ने खुद ही अपनी दोनों जांघे खोल दी।             “Girlfriend Ke Boobs”

सायद वो भी यही चाहती थी। उसकी बुर वकाई में बहुत खूबसूरत थी। मैंने जीभ लगाकर उसकी चूत पीने लगा। उफ्फ्फ्फ़….कितनी नर्म चूत थी वो। हल्की सी नमकीन और अदरक जैसा कसैला स्वाद। मेरी जीभ किसी कुत्ते की तरह उसकी गुलाबी चूत पर नाचने लगी। मैं एक आदर्श प्रेमी साबित होना चाहता था, इसलिए उसकी चूत पीना जरूरी था। कुछ देर में मुझे फुल मजा मिलने लगा। मैं गहराई से कृतिका का भोसड़ा पी रहा था।
उसके मूतने वाला छेद तो ठीक मेरे सामने था।

मैंने अपनी उँगलियों की मदद से उसकी चूत खोल दी और उसका चूत का दाना, मूतने वाला छेद, और योनी को मैं पीने लगा। कृतिका मचल रही थी। हाथ पाँव पटक रही थी। उसके जिस्म में वासना और काम की आग भड़क रही थी। वो “……उई..उई..उई…. माँ….माँ….ओह्ह्ह्ह माँ…. .अहह्ह्ह्हह..”चिल्ला रही थी। मेरा सिर उसकी २ गोरी और गदराई जांघो को पूरी तरह से दफन हो चुका था। कृतिका किसी जंगली बिल्ली के तरह मेरे सिर के बालों को नोच रही थी।                                     “Girlfriend Ke Boobs”

मुझे इतनी उतेज्जना अच्छी लग रही थी। चुदाई के वक़्त ठंडी लड़कियां मुझे जरा भी पसंद नही था। मैं तेज तेज उसकी बुर पीने में मस्त था। आज मैं उसकी चूत को पूरी तरह से खा ही जाना चाहता था। मैं खुद को एक आदर्श प्रेमी साबित कर रहा था।

मैंने कुल ४५ मिनट तक कृतिका की चूत पी फिर अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया और उसे चोदने लगा। कृतिका ने मुझे बाहों में भर लिया और मेरे चेहरे को सहलाने लगी। “आऊ….. आऊ….हमममम अहह्ह्ह्हह….सी सी सी सी.. हा हा हा..”वो सिसकने और कराहने लगी। मैंने उसकी पतली सेक्सी कमर को दोनों हाथो से कसकर पकड़ लिया और तेज तेज धक्के उसकी चूत में मारने लगा। मैंने उसे १ घंटा चोदा और माल उसकी चूत में ही गिरा दिया। बाद में मैंने उसे एक गर्भनिरोधक गोली खिला दी।                               “Girlfriend Ke Boobs”


Online porn video at mobile phone


mastaram.netwww.antarvashna.com"hot sex khani""dirty sex stories""sexy in hindi""adult sex kahani""sex stry"sexstories"bhabhi devar sex story""hindi sexcy stories""hindi swxy story""hindi chudai kahaniya""randi ki chut""chudai ki kahani in hindi""swx story""chudai ka sukh"sexstories"sexy story hindhi""beti ki saheli ki chudai""muslim ladki ki chudai ki kahani""devar bhabhi sex stories""हॉट सेक्स स्टोरी""mom son sex stories in hindi""chut ki kahani with photo""chachi ki chudae""xxx stories indian""beti ki saheli ki chudai""indian mom sex stories""tamanna sex stories""maa ki chudai ki kahaniya""hot gandi kahani""hindi sex kahania"sexstorieshindi"tamanna sex story""desi sexy stories""indian xxx stories""baap beti ki chudai"kamukat"hindi sexy story hindi sexy story""desi khani""hot gay sex stories""adult sex story""hindi sexy hot kahani"sexstorieschudaai"chudai ki story hindi me""sex story real hindi""sex कहानियाँ""www new sex story com""mom chudai story""bathroom sex stories""indian sex stories.com""सेक्सी स्टोरीज""chut me lund""hindi sexi story""chodo story""pahli chudai ka dard""kajal sex story""xxx stories""adult sex kahani"sexstories.com"gand chudai story""sexy story written in hindi""chudae ki kahani hindi me""hot sex stories""kamukta com hindi me""brother sister sex story"sexstories"hot sexy stories""office sex story"