चाचा और उनकी बेटी गरिमा

(Chacha Aur Unki Beti Garima)

हैल्लो दोस्तों.. मेरा नाम राजेश बंसल है और मेरी उम्र 26 साल है. दोस्तों मैंने बहुत सी कहानियाँ पढ़ी है और मुझे सेक्सी कहानियाँ पढ़ना बहुत अच्छा लगता है. आज में आप सभी को एक आँखों देखी सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ. यह बात उस समय की है.. जब में सेक्स के बारे में इतना कुछ नहीं जानता था और मेरे घरवालों ने मुझे पढ़ाई के लिए मेरे अंकल के पास छोड़ दिया.. वहाँ पर अंकल आंटी और अंकल की एक लड़की जिसका नाम गरिमा है.. वो रहती है. में अक्सर उसके साथ खेला करता था और वो मुझे बहुत तंग किया करती थी.. लेकिन उस समय में सेक्स के बारे में कुछ भी नहीं समझ पाता था. तभी अचानक एक दिन आंटी की तबियत खराब हो गई और उन्हें हॉस्पिटल ले जाना पड़ा. फिर हॉस्पिटल जाने पर हमे पता चला कि आंटी को इन्फेक्शन है और कैन्सर भी है.. जिसके कारण वो अब कुछ दिनों की महमान है.

फिर जब में सोता था तो गरिमा अपने मम्मी, पापा के कमरे के पास रात को जाकर के होल से कुछ देखती थी और जब में पूछता था कि तुम क्या देखती हो? तो वो जवाब देती कि कुछ नहीं और तुम्हे देखना है तो देख लो. तभी मैंने एक बार देखा तो अंकल, आंटी को किस कर रहे थे और फिर यह देखने के बाद उसने कहा कि तुम जाकर सो जाओ में अभी आती हूँ. इसके बाद वो आधे घंटे बाद आई और मुझे किस करने लगी. तो मैंने कहा कि प्लीज़ मुझे सोने दो और में सो गया. फिर समय बीतता गया और में 6 क्लास में चला गया और फिर गरिमा की माँ का इन्फेक्शन ठीक नहीं हुआ और 6 महीनों के बाद उनका देहांत हो गया. अब गरिमा का एडमिशन कॉलेज में हो गया और गरिमा की आदत में बहुत बदलाव आ गया. अब वो अक्सर अपने कपड़े दरवाजा खोलकर बदलती तो कभी घर में केवल ब्रा पेंटी में घूमती तो कभी मिनी स्कर्ट में तो कभी पारदर्शी नाईटी में.

फिर उसके पापा अक्सर उस पर नज़र डालते रहते थे और वो अपने बूब्स किसी ना किसी बहाने से उन्हें दिखाती रहती थी. वो उसका पूरा फ़ायदा उठाते और कभी मौका मिलने पर उसके बूब्स को अंजान बनकर दबा भी देते थे जैसे कुछ हुआ ही नहीं. तभी एक दिन मैंने देखा कि अंकल गरिमा को कपड़े बदलते हुए देख रहे थे और उसने जानबूझ कर अपने सूट की चैन खुली छोड़ दी और जब वो बाहर आई तो अंकल ने उसकी चैन लगाई और धीरे से उसके बूब्स को भी सहलाया. अब गरिमा बहुत खुल चुकी थी और अपने बाप से मज़े लेने की सोच में लगी रहती थी. तभी एक दिन में अपने स्कूल से आया तो देखा कि अंकल गरिमा से किचन में पीछे से चिपके हुए थे और उसके गाल पर किस कर रहे थे. तभी मुझे देखकर उन्होंने गरिमा को छोड़ दिए. फिर एक दिन जब हम सो रहे थे तब गरिमा के पापा ने उसे बुलाया और कहा कि उन्हें सर में बहुत दर्द हो रहा है. तो गरिमा उनके सर में बाम लगा रही थी और में सोने चला गया. फिर मुझे पता नहीं क्या हुआ? में वापस अंकल के कमरे की और चला गया और एक होल से देखने लगा. फिर मैंने जो देखा उस में देखकर दंग रह गया.. गरिमा के पापा गरिमा के बूब्स पकड़े हुए थे और उसे किस कर रहे थे और कह रहे थे कि तुम्हारे बूब्स बचपन में बहुत छोटे थे और अब बहुत बड़े हो गए है और उसे अपने बेड पर लटा दिया और उसकी सलवार कमीज़ उतारने लगे. गरिमा उन्हें चूमने लगी और कहने लगी कि इतने दिन से दिखा कर रही हूँ.. लेकिन आपकी नज़र ही नहीं जाती यहाँ.. पर आज गई है. फिर उसके पापा ने उससे पूछा कि क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है? तो उसने कहा कि नहीं है.. तो अंकल ने कहा कि अच्छा यानी किसी से कभी कुछ नहीं किया. तो वो बोली कि हाँ कभी नहीं किया ये सुनते ही अंकल उसके ऊपर चड़ गए और उसकी ब्रा खोल दी और उनके ब्रा खोलते ही उसके बूब्स बाहर आ गए.. तभी उसके गोल बड़े बड़े बूब्स को अंकल देखते ही रह गए और कहने लगे कि वाह! क्या बूब्स है तुम्हारे.. लगता है आज मजा आ जाएगा और उसके बूब्स को अपने हाथों में ले कर दबाने लगे और किस करने लगे. फिर एक के बाद एक बूब्स को किस करते और उसके निप्पल को मुहं में लेकर चूसते जिससे गरिमा के मुहं से उहह अह्ह्ह की आवाज़ निकलती और गरिमा अपने होंठो को काटती.

फिर अंकल ने गरिमा के एक बूब्स को अपनी उँगलियों के बीच में रखकर जोर से खींचा और फिर गरिमा शऊऊउ आअहह करती और अंकल मज़े लेते. तभी अंकल ने अपनी शर्ट पेंट उतार दी और गरिमा की पेंटी उतार दी.. लेकिन उसकी चूत पर बहुत बाल थे. अंकल अपनी जीभ उसकी चूत के बाल पर फेरने लगे और कहने लगे कि यह तो गीली हो गई है और उसकी चूत के पास मुहं ले जाकर चाटने लगे और वो पागलो की तरह तड़पने लगी और उसके पापा मज़े ले रहे थे. फिर उन्होंने कहा कि चलो बाथरूम में चलते है और उसे उठाकर बाथरूम में ले गए और कोई 7 मिनट के बाद वापस आए. उसके बाद मैंने देखा तो उसकी चूत के बाल साफ हो गए थे और उसकी चूत चमक रही थी. तभी यह सब देखकर में दंग रह गया और मैंने देखा कि अंकल ने अभी तक अपना अंडरवियर नहीं उतारा है. फिर उन्होंने गरिमा से कहा कि चलो अब मेरा अंडरवियर उतारो.

तो उसने उसे उतार दिया और उसकी आंखे फट गई.. क्योंकि उनका लंड 9 इंच का था और उसने आज से पहले कभी भी उनका लंड इतने करीब से नहीं देखा था. इतना मोटा और लंबा और वो कहने लगी कि बाप रे इतना बड़ा लंड मेरी माँ अपनी चूत में कैसे लेती थी? फिर वो बोले कि बेटा घबराओ नहीं पहले तुम्हारी माँ को भी दिक्कत हुई थी और बाद में वो भी बड़े आराम से अपनी चूत में डलवाकर बहुत मज़े लेती थी.. तुम्हे भी बड़ा मज़ा आएगा. फिर वो कहने लगी कि मेरी चूत बहुत छोटी है में नहीं ले सकती.. प्लीज़ मुझे छोड़ दीजिए. फिर वो बोले कि मैंने तुम्हे अभी कहा कि कुछ नहीं होगा तुम्हे.. तुम तो मेरा लंड मुहं में लो और इसे चूसो.. लेकिन उसने मना किया और उसके बाद ज़बरदस्ती अंकल ने उसे अपना लंड हाथ में दे दिया और हिलाने को कहा वो तैयार हो गई और अंकल के लंड को आगे पीछे करने लगी.

फिर कुछ देर ऐसे ही करने के बाद अंकल उसे फिर उसके होंठो पर चूमने लगे और कहा कि मुहं में लो ना प्लीज़. फिर उनके बहुत कहने पर उसने अपने मुहं में उनका बड़ा लंड ले लिया और वो चूसने लगी और अंकल आहह्ह्ह आहहह और जोर से और अंदर लो.. कह कर अंकल मज़े में डूब गए. फिर थोड़ी देर बाद अंकल के लंड में से बहुत सारा पानी जैसा निकला और गरिमा के बूब्स पर गिर गया और वो उसको लेटाकर उसके ऊपर लेट गए और पूछने लगे कि मज़ा आया? लेकिन गरिमा के पसीने छूट गए थे.. फिर उसने कहा कि हाँ बहुत मज़ा आया. तो अंकल ने कहा कि आज यहीं पर सो जाओ हम बहुत मज़े करेंगे अभी तो पूरी रात बाकी है हमे बहुत मज़ा आएगा.. यह रात एसे ही कट जाएगी. अंकल फिर उसके बूब्स चूसने लगे और गरिमा की चूत से पानी निकल गया. अंकल ने पूछा कि क्या मज़ा आया? तो उसने कहा कि बहुत मज़ा आया. उसके बाद अंकल ने कहा कि अब तुम्हे और मज़े दूँगा और उसके पैर फैला दिए और उसकी चूत चाटने लगे. फिर मैंने देखा कि उनका लंड फिर से बड़ा हो गया है और वो अचानक लेटे और गरिमा को किस करने लगे और अपने लंड को गरिमा की चूत पर रगड़ने लगे. गरिमा ओह ओहआह की आवाज़े निकाल रही थी कि अचानक उन्होंने उसकी चूत पर लंड रखा और एक धक्का दिया. गरिमा की बहुत जोर से चीख निकल गई. तभी मैंने देखा कि अंकल का आधा इंच गरिमा की चूत में घुस गया है और गरिमा कह रही थी निकालो प्लीज़ में मर जाऊंगी. फिर अंकल उसे किस करते रहे और उसका मुहं बंद कर दिया और एक जोर का धक्का मारा गरिमा तड़प उठी और अहह माँ मरी की आवाज़ करके रोने लगी.

फिर मैंने देखा कि उसकी चूत से खून की धार निकल रही है और अंकल का लंड भी 2 इंच ही अंदर घुस सका और उसकी हालत बहुत खराब हो गई थी और अभी तो बाकी का 7 इंच घुसना बाकी था. तभी में तो डर ही गया था कि यह कैसे घुसेगा.. यह तो हो ही नहीं सकता. तभी अचानक मैंने देखा कि गरिमा बेहोश हो गई और अंकल उठकर पानी लाए और उन्होंने उसके चहरे पर पानी डाला और वो होश में आकर कहने लगी कि मुझे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज इसे बाहर निकालो.. लेकिन अंकल ने उसकी एक भी नहीं सुनी और फिर उसके ऊपर चड़ गए और किस करने लगे और कहा कि कुछ नहीं होगा तुम्हे.. पहली बार तेरी माँ को भी बहुत दर्द हुआ था.. लेकिन तेरी चूत इतनी टाईट है कि तेरी माँ की भी नहीं थी.. पता नहीं साली रंडी किस किस से चुदवा कर आती थी. मुझे इतना मजा नहीं आता था उसकी चूत का जितना तेरी चूत में आ रहा है और अपना लंड उसकी चूत पर फिर से रखकर बिना हरकत किए एक ज़ोर का झटका मारा. अब अंकल का लंड उसकी चूत में 5 इंच जा चुका था और गरिमा जोर जोर से चीखने लगी जैसे कोई बिजली गिरी हो और कहने लगी कि आपके लंड ने मेरी चूत को फाड़ दिया है.. लेकिन अंकल कहाँ मानने वाले थे उन्होंने कहा कि यह तो अभी आधा ही घुसा है तुम्हे तो पूरा लेना है.

तभी उसकी आँखों से आंसू निकल आए और वो कहने लगी कि में मर जाऊंगी.. लेकिन पूरा नहीं ले पाउंगी. प्लीज़ आज पूरा मत डालना. फिर अंकल ने अपना लंड वहीं पर रखा और आगे पीछे करने लगे और वो दोनों चुदाई के मज़े लेने लगे.. फिर अचानक से अंकल ने अपना लंड पूरा निकाल लिया और फिर से एक जोर का झटका दिया जिससे उनका 7 इंच का लंड अंदर चला गया. फिर भी दो इंच जाना बाकी था और गरिमा फिर से बेहोश हो गई. तभी अंकल ने उसे बेहोशी की हालत में भी एक और ज़ोर का झटका दिया और पूरा 9 इंच का लंड उसकी चूत में डाल दिया.. यह देखकर में दंग रह गया और अंकल अपना लंड बिना बाहर निकाले उसके चहरे को चाटने लगे. उसे होश आया और अंकल ने कहा कि अब तुम्हे दर्द नहीं होगा. मेरा पूरा लंड तुम्हारी चूत के अंदर चला गया है. तभी वो चीख पड़ी और कहने लगी कि मेरी चूत में लग रहा है कि किसी ने लोहे का गरम गरम टुकड़ा डाल दिया है.. प्लीज इसे जल्दी से बाहर निकालो.

फिर भी अंकल कहाँ सुनने वाले थे उन्होंने अपने आप को 5 मिनट ऐसे ही रखा और उसके बाद धीरे धीरे धक्के देने लगे. गरिमा हर एक धक्के से हिल जाती और चीखती ओह उई माँ उई माँ अब गरिमा जोर जोर से चीखी और कहनी लगी कि में झड़ने वाली हूँ. तभी उसके पापा ने अपनी स्पीड और भी तेज़ कर दी और वो दोनों एक दूसरे से कसकर चिपक गए और फिर अंकल और गरिमा एक साथ दोनों ही झड़ गए. तभी अंकल ने कहा कि आज तो मज़ा ही आ गया इतने दिनों बाद किसी को चोदना मिला है.. लेकिन गरिमा की तो हालत ही बहुत खराब हो गई थी. फिर उसके पापा उस पर से उठे तो उसकी चूत का सुराग साफ साफ दिख रह था और ऐसा लग रहा था कि जैसे कुछ ऊपर नीचे उसके अंदर हो रहो हो. फिर गरिमा ने अपनी चूत पर हाथ रखा और वो रोकर कहने लगी कि मुझे बहुत दर्द हो रहा है.. शायद मेरी चूत फट गई है. फिर अंकल ने अलमारी से दर्द कम होने की एक गोली उसे निकाल कर दी. फिर 15 मिनट बाद दोनों सोने लगे.. फिर में भी अपने कमरे की और चला गया.. लेकिन सोते समय मेरी आँखों में नींद कहाँ थी? फिर में वापस आकर कमरे की और देखने लगा.. अंकल फिर से अपना लंड गरिमा से चुसवा रहे थे और वो फिर से खड़ा हो गया. फिर अंकल ने कहा कि फिर एक बार हो जाए तो गरिमा ने कहा कि नहीं प्लीज अब नहीं हो पाएगा मुझे सू सू लगी है और गरिमा बेड से उतरने की कोशिश कर रही थी.. लेकिन उससे एक कदम भी चला नहीं जा रहा था. फिर अंकल ने उसे गोद में उठाया और सू सू कराने ले गए और वापस गोद में ले आए और गरिमा को बेड पर लेटा दिया और उसके बूब्स फिर से चूसने लगे.

फिर वो उसके ऊपर चड़ गए और फिर से अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया और हिलाने लगे.. गरिमा को भी अब मजा आ रहा था. तभी अंकल उठे और पता नहीं उन्होंने किस चीज की एक गोली खाई और फिर उसे चोदने लगे. फिर इसी दौरान करीब आधे घंटे तक चोदने के बाद गरिमा दो बार झड़ चुकी थी.. लेकिन अंकल दवाई खाने के बाद झड़ने का नाम ही नहीं ले रहे थे. फिर 1 घंटे बाद अंकल बोले कि अब में तुम्हारी गांड मारूंगा.. लेकिन गरिमा बोली कि यह नहीं हो सकता.. यह आपका लंड गांड में डालकर मुझे मारना है क्या? मेरी चूत फाड़कर आपको मज़ा नहीं आया क्या? जो मेरी गांड भी फाड़ना चाहते हो? तभी अंकल ने बोला कि तुम्हे दोनों छेद का अनुभव होगा तो ज्यादा अच्छा होगा और यह कहते ही उन्होंने अपना लंड चूत से बाहर निकाला और उसे पलटने को कहा उसने पलटने से मना किया तो अंकल ने उसके गाल पर ज़ोर का थप्पड़ मारा और कहने लगे कि साली रंडी तेरी माँ की मैंने गांड भी कई बार मारी है और में तेरी भी आज ही मारूँगा.. तू समझती क्या है अपने आपको साली? आज में तुझे दुनिया की सबसे बड़ी छिनाल बना कर छोडूंगा और फिर उन्होंने उसे पीछे पलट दिया और वो जोर जोर से फूट फूटकर रोने लगी.

फिर अंकल ने उसकी एक भी ना सुनी और अपनी अलमारी से एक तेल निकाल कर लाए और थोड़ा अपने लंड और थोड़ा उसकी गांड के छेद में डाल दिया. तभी वो कहने लगी कि नहीं पापा.. प्लीज़ नहीं.. मेरी गांड तो छोड़ दो. मेरी चूत का तो भोसड़ा आपने बना दिया है.. अब मेरा गांड को मत फाड़ो.. लेकिन अंकल कहाँ सुनने वाले थे और उन्होंने अपना 9 इंच का लंड उसकी टाईट गांड पर रखा और एक ही झटके में 4 इंच लंड घुसा दिया. बैचारी गरिमा चीख पड़ी और एक और झटके के साथ अंकल ने 6 इंच लंड डाल दिया और रुक गए. गरिमा ने कहा कि में मर गई मेरी गांड फट गई. आपका लंड तो लोहे का गरम डंडा लग रहा है में आपकी बेटी हूँ.. कोई रंडी नहीं.. थोड़ा तरस तो खाओ. तभी अंकल ने कहा कि थोड़ा दर्द तो तेरी माँ को भी हुआ था.. लेकिन साली तेरी माँ पूरी छिनाल थी और उसकी गांड पहले से ही भोसड़ा थी. वो कॉलेज टाईम में ही ना जाने किस किस से चुदवा कर अपनी चूत और गांड को चोड़ा करवा चुकी थी और उसने शादी मुझसे कर ली और जब मैंने तेरी माँ की चूत और गांड को मारी तो उसे कुछ हुआ ही नहीं और ना ही उसकी गांड और चूत से खून निकला.. अच्छा हुआ वो मर गई और अपनी बेटी को मुझसे चुदने के लिए छोड़ गई. फिर यह सब सुनकर ऐसा लग रहा था जैसे अंकल ने कभी कोई वर्जिन लड़की नहीं चोदी थी और आज उन्हें गरिमा मिल गई थी. आज वो अपनी सारी प्यास उससे बुझाना चाहते थे. फिर उनका मोटा लंड उसकी गांड में आगे पीछे हो रहा था फिर उन्होंने एक ज़ोर का झटका दिया और अपना पूरा का पूरा लंड गरिमा की गांड के अंदर डाल दिया और जोर जोर से झटके पे झटके देते रहे.. लेकिन अंकल में ना जाने इतनी ताकत कहाँ से आ गई थी? गरिमा की हालत खराब हो गई थी और अंकल झड़ने का नाम नहीं ले रहे थे. करीब आधे घंटे के बाद अंकल ने उसकी गांड में से अपने लंड को बाहर निकाला और उसकी गांड के ऊपर ही झड़ गए उनके लंड ने ढेर सारा क्रीम निकला और वो थक कर ढेर हो गए और कहने लगे तू सचमुच जन्नत है.. मुझे आज तक ऐसी चूत और गांड नहीं मिली. आज से में तुझे रोज चोदूंगा और हर रात तुझसे में अपनी प्यास बुझाऊँगा. थेंक्स रेणु.. ऐसी बेटी देने के लिए.

फिर अंकल ने गरिमा से कहा कि आज से तू हर रोज मेरे कमरे में सोएगी और में रोज तुझे चोदूंगा और अंकल सो गए और गरिमा अभी भी रो रही थी. फिर अंकल ने उसे एक और गोली दी और एक ग्लास पानी दिया और फिर दोनों ही सो गए और में भी सोने अपने कमरे में चला गया.


Online porn video at mobile phone


"baap beti sex stories""lesbian sex story""hindi bhai behan sex story""erotic stories hindi"desikahaniya"new kamukta com""hinde sexy storey""hindi chudai ki kahani""हिंदी सेक्सी स्टोरीज""kamvasna hindi sex story""sexe stori""hot story in hindi with photo""chudai ki real story""hot sexi story in hindi""hindi sex khaniya""new indian sex stories""sex stories""chudai ki kahani photo""सेक्सी स्टोरी""xxx stories indian""mausi ko pataya""sex stor""hot sexstory""teen sex stories""hindi sax storis""सेक्सी हिन्दी कहानी""इंडियन सेक्स स्टोरी""sex stry""sex indain"sexstories"mastram ki kahaniya""kahani chudai ki""new hindi chudai ki kahani""cudai ki kahani""इन्सेस्ट स्टोरी""sex storis""sexy story in hondi""kamukta beti""pehli baar chudai""bade miya chote miya""bhai bahan sex store""sax story""romantic sex story""hindi sex storis""hinde sexy story com""real sex stories in hindi""hinsi sexy story""sexy chut kahani""devar bhabhi sex stories""travel sex stories""antarvasna gay story""meri bahan ki chudai""hindi sex kahaniya in hindi""indian sex storeis""sex stories in hindi""sex shayari""new hindi sexy store""sexy story in hindi with image""chut ki kahani photo""kamukta stories"mastaram.net"randi ki chut""sxe kahani""new sexy story com""bhid me chudai""hinde sax stories"indainsex"sexi stori""bhabhi ko train me choda""sex stories new""suhagraat ki chudai ki kahani""devar bhabhi ki sexy kahani hindi mai"hindisexstoris"sec story""kamukta story in hindi""suhagraat ki chudai ki kahani""antarvasna ma""saxy kahni""hot store in hindi""hot sex stories hindi""hindi sex story kamukta com""sex stories hot""hot sexs""maa beta sex kahani""sex in hostel""aunty ke sath sex""oriya sex stories""hindi font sex story""chudai ki kahani in hindi""indian hot sex story""mummy ki chudai dekhi""hindi sex chats""sex stories written in hindi"gandikahani"chodan. com""hot sexy hindi story"